VSK chennai sandesh (Hindi)

सेतु 
समाचार भी, संस्कार भी
चेन्नई, मई ४ , २०१२

एक डाक्टर जो सेवा व्रत लिया है 
चन्द महीनों पहले इरोड शहर के 'एस जी मेट' अस्पताल में गुरुमूर्ति नामके एक व्यक्ति को, जो सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल थे, लाया गया. उनके पास सिर्फ ५,००० रूपये थे. किसी मरीज़ को अग्रिन ५०,००० रुपये जमा किये बिना किसी भी कॉरपोरेट अस्पताल में भर्ती नहीं मिलती जबकि 'एस जी मेट' अस्पताल के मुख्या चिकित्सक डॉक्टर मारिमुत्तु सरवनन ने तत्काल उपचार शुरू कर दी. इसमें उसको ८८,००० रुपये (डॉक्टर फीस के अलावा) खर्च हो गया. डिस्चार्ज के एक महीने के बात गुरुमूर्ति स्वयं आकर ३०,००० रुपये अस्पताल को दिए और बोला "इतना ही कर पाया". डॉक्टर मारिमुत्तु सरवनन अपने एम्.बी.बी.एस के बाद एक कॉरपोरेट अस्पताल में नौकरी की जहाँ सेवा नहीं, पैसा ही सब कुछ था. अपने अंतःकरण को धोका न देते हुए उन्होंने उस नौकरी छोड़ दी. तुरंत बाद 'श्री गणपति मेडिकल एंड एजुकेशनल ट्रस्ट' घटित की जिस में ८६ डॉक्टर शामिल हो गए. आज ट्रस्ट में कुल ४८६ शुभचिंतक ट्रस्ट के अंग बन गए हैं. मारिमुत्तु सरवनन बताते हैं कि "गुरुमूर्ति के उन शब्द ही हर डॉक्टर के जीवन को सार्थक बनाती हैं."

कहानी संयोग से एक षड़यंत्र की 

मदुरई जो माँ मीनाक्षी की नगरी है, इस चैत्र (एप्रिल-मई) माह लाखों श्रद्धालुओं को खींचती है दस दिन के चैत्र उत्सव के लिए. इस साल वहां भारतीय जनता पक्ष के तमिलनाडू इकाई मई १०, ११ को एक विशाल राज्य स्तरीय दो दिन के अधिवेशन की आयोजन में जुटा है. ठीक इस अवसर पर मई १ के दिन मदुरई के अण्णा नगर इलाके में स्थित राम मंदिर के सामने 'कम शक्ति वाला' टाइम बाम का विस्फोट सनसनी फैलाई है. राज्य के पुलिस डी जी पि श्री रामानुजम इसको संयोग कहते हैं. गत साल अडवानी जी के रथ यात्रा मार्ग के एक फुल के नीचे पाइप बाम देखा गया.केस चालू है. यह भी नहीं, अभी मई १ तारीख को मदुरई से ज्यादा दूर नहीं ऐसा राजपालायम में पुलिस ने वाहन चेक करते वक्त दो आदमियों से जेलाटिन बरामद की हैं. यद्यपि ड़ी जी पि साहब के अनुसार भा जा प अधिवेशन के लिए सुरक्षा व्यवस्था पर्याप्त मात्रा में है, प्रश्न चिन्ह न मिट रही है. 

अरुन्दती समाज की आवाज़ 
वाल्मीकि समाज तमिलनाडु में अरुन्दती समाज कहलाता है. इस समाज की एक युवा संस्था अब हाल ही में इरोड में अपने बैठक में एक प्रस्ताव पास करके अपील की है कि समाज की सब उप जाती के लोग 'जाती आधारित जन गणना' में अपने को अरुन्दती ही पंजीकृत करवाएं. युवा संस्था राज्य सरकार से अनुरोध करती है कि इस समाज में जन्मे स्वतन्त्रता सेनानी 'ओंड़ी तेवन' का स्मृति भवन का निर्माण कार्य में तेजी चाहिए ताकि जुलाई के उनके स्मृति दिवस वहीं पर मना सकें.

Post a Comment

0 Comments